Fruits and Beauty Care । गर्मियों में फलों के द्वारा त्वचा को सुन्दर बनाएं !

!! Fruits and Beauty Care !!

त्वचा (Skin) को सुन्दर बनाए रखने में पारंपरिक रूप से फलों का प्रयोग सदियों से होता रहा है और साथ ही साथ यह त्वचा के विकारों को दूर करने का बेहतर उपाय भी है। आयुर्वेद में भी त्वचा और बालों से संबंधित विभिन्न समस्याओं के उपचार के लिए फलों का इस्तेमाल किया जाता रहा है और वर्तमान में भी बुद्धिमान लोगों द्वारा किया जा रहा है क्योंकि बाजार में मिलने वाले विषैले केमिकल्सयुक्त स्किन प्रोडक्ट्स त्वचा को नुकसान पहुंचाते हैं और अधिक दुष्प्रभाव (side effects) वाले होते हैं। 

Fruits and Beauty Care

वर्तमान में उच्च स्तरीय ब्यूटी सलून्स में बेहकर स्किन केयर के लिए फ्रूट्स पैक ही दिए जा रहे हैं। इस लेख में हमने गर्मी के मौसम में आसानी से उपलब्ध हो सकने वाले कुछ विशिष्ट फ्रूट्स के द्वारा स्किन ब्यूटी टिप्स का वर्णन किया है, जिसकी मदद से गर्मी के कारण होने वाले स्किन विकार को व अन्य स्किन (त्वचा) विकार को आसानी से ठीक किया जा सकता है ।


!! Beautify the skin with fruits !!

 1. मौसमी (ग्रेपफ्रूट) एंड ब्यूटी केयर

दूसरे खट्टे फलों की तुलना में मौसमी में त्वचा के लिए सर्वाधिक क्लीजिंग और टोनिंग इफेक्ट पाया जाता है। यह खासतौर से ऑयली (तैलीय) और पिंपल प्रोन (मुंहासे युक्त) स्किन के लिए प्रयोग किया जाता है। यह ऑयलीनेस को कम करता है और समय के साथ त्वचा के टैन को कम करने में भी सहायता करता है। ग्रेपफ्रूट (मौसमी) ऑयली स्किन की समस्याओं को समाप्त करके रोम छिद्रों को स्वस्थ रखने आदि में सहायता करता है। साथ ही यह त्वचा को टाइट करने में भी सहायता करता है। 

मौसमी [Grapefruit]

त्वचा पर मौसमी के प्रयोग की विधि:-  

त्वचा को स्वच्छ पानी से धोकर और फिर पोंछकर प्रभावित त्वचा पर मौसमी का गूदा या इसका जूस लगाएं और 20 मिनट बाद स्वच्छ ठण्डे पानी से धो दें। 


2. काले अंगूर (ब्लैक ग्रेप्स) एंड ब्यूटी केयर

ब्लैक ग्रेप्स एंटीआक्सीडेंट्स होते हैं और त्वचा के लिए एंटी एजिंग लाभ पहुंचाते हैं। ये उम्र बढ़ने से चेहरे पर दिखाई देने वाली निशानियां/धब्बों/झुर्रियों को कम करते हैं। टोनिंग इफेक्ट के लिए इसका जूस या गुदा चेहरे पर लगाया जाता है। यह त्वचा को रिवाइटलाइज करता है और नई चमक देता है।

काले अंगूर (ब्लैक ग्रेप्स)

त्वचा पर काले अंगूरों के प्रयोग की विधि:-  


त्वचा को स्वच्छ पानी से धोकर और फिर पोंछकर प्रभावित त्वचा पर काले अंगूरों का गूदा या इसका जूस लगाएं और 25 मिनट बाद स्वच्छ ठण्डे या हल्के गुनगुने पानी से धो दें।

 

3. चेरी एंड ब्यूटी केयर

चेरीज में विटामिन और मिनरल अधिक मात्रा में पाए जाते हैं, जो त्वचा को नरिश करते हैं। इनमें Anti-inflammatory इफेक्ट होता है और यह खराब तो अच्छा को ठीक करने में सहायता करता है। यह सन-डैमेज और अल्ट्रावायलेट एक्सपोजर की समस्या को भी ठीक करने में तेजी से सहायता करता है।

चेरी एंड ब्यूटी केयर

त्वचा पर चेरी के प्रयोग की विधि:- 

 
त्वचा को स्वच्छ पानी से धोकर और फिर पोंछकर प्रभावित त्वचा पर चेरी का गूदा या इसका जूस ग्लिसरीन में मिलाकर लगाएं और 25 मिनट बाद हल्के गुनगुने पानी से धो दें।


4. टमाटर (टोमेटो) एंड ब्यूटी केयर

भारतीय सब्जियां, करी और सलाद में आमतौर पर टमाटर (टोमेटो)  का प्रयोग अनिवार्य रूप में किया जाता है। इसमें मौजूद विटामिंस और मिनरल्स तत्व के कारण इसमें ब्यूटी बेनिफिट्स अधिक पाए जाते हैं। इसमें लाइकोपिन होता है, जो एंटीऑक्सीडेंट होता है। जब टमाटर को त्वचा पर लगाया जाता है, तो एंटी एजिंग बेनिफिट्स मिलते हैं। टमाटर का गूदा या टमाटर का रस त्वचा के ऑयलीनेस को कम करता है और त्वचा के रंग को हल्का करने में भी सहायता करता है। खासतौर से यह ऑयली स्किन के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है। 

टमाटर (टोमेटो) एंड ब्यूटी केयर

त्वचा पर टमाटर के प्रयोग की विधि:-  

त्वचा को स्वच्छ पानी से धोकर और फिर पोंछकर प्रभावित त्वचा पर टमाटर का गूदा या इसका जूस लगाएं और 25 मिनट बाद स्वच्छ पानी से धो दें। इसे कई दिन त्वचा पर लगाएं। 


5. लीची एंड ब्यूटी केयर

दूसरे अन्य विशिष्ट फलों के समान ही लीची में भी एजिंग साइन जैसे लाइन्स और झुर्रियों को समाप्त करने के गुण पाए जाते हैं। वास्तव में लीची त्वचा को नई जान देते हुए, इसकी यूथफुलनेस प्रॉपर्टीज को बनाए रखता है। लीची में अत्यधिक मेलेनिन से हुए हाइपरपिगमेंटेशन को समाप्त करने के गुण पाए जाते हैं। लीची को त्वचा के डार्क पैचेज (काले/भूरे धब्बों) पर अप्लाई करना चाहिए। इसके अलावा लीची त्वचा को हाइड्रेट करता है और माइश्चर लाॅस से बचाता है। 

लीची एंड ब्यूटी केयर

त्वचा पर लीची के प्रयोग की विधि:-  

लीची के बीज का तेल ट्रीटमेंट के लिए प्रयोग किया जाता है। इस फल का गूदा भी त्वचा पर लगाया जाता है। त्वचा को स्वच्छ पानी से धोकर और फिर पोंछकर प्रभावित त्वचा पर लीची का गूदा लगाएं और 25 मिनट बाद स्वच्छ पानी से धो दें। इसे कई दिन त्वचा पर लगाएं।


6. सेब (एप्पल) एंड ब्यूटी केयर

विटामिंस और मिनरल्स (फास्फोरस) की अधिक मात्रा के अलावा सेब में पेस्टिन और टेनिन नामक रसायन भी पाये जाते हैं, जो त्वचा को टोन और लाइटेन करने में सहायता करते हैं। पेस्टिन सेंसेटिव (प्रभावित) स्किन पर सूदिंग इफेक्ट छोड़ता है। सेब बहुत बढ़िया स्किन टोनर होता है। यह स्किन को टाइट करने में सहायता करता है और स्किन सर्फेस के ब्लड सर्कुलेशन को उद्दीप्त करता है और उसके नसों को स्वस्थ बनाए रखता है। सेब में एंटी ऑक्सीडेंट प्रॉपर्टी भी होती है। सेब में मौजूद फ्रूट एसिड में शक्तिशाली क्लीजिंग इफेक्ट पाया जाता है और यह डेड स्किन सेल्स को लूज और रिमूव भी करता है। सेब त्वचा को दमकाने में सहायता करता है और दाग-धब्बे जैसे डार्क स्पॉट्स आदि को दूर करता है। सेब साइडर बिनेगर बालों को बहुत लाभ पहुंचाता है। यह स्काल्प (खोपड़ी) के नॉर्मल बैलेंस को रिस्टोर करने में सहायता करता है और स्काल्प की समस्याओं से जिसमें डैंड्रफ शामिल है, से बचाता है। 

सेब (एप्पल) एंड ब्यूटी केयर

त्वचा पर सेब के प्रयोग की विधि:- 

सूखे सेब का गूदा या सेब जूस को प्रतिदिन त्वचा पर लगाया जाता है। त्वचा को स्वच्छ पानी से धोकर और फिर पोंछकर प्रभावित त्वचा पर सेब का गूदा या जूस लगाएं और 25 मिनट बाद स्वच्छ पानी से धो दें। इसे कई दिन त्वचा पर लगाएं।


7. तरबूज (वाटरमेलन) एंड ब्यूटी केयर

ड्राई स्किन (सूखी चमड़ी) के लिए वाटरमेलन सहायक होता है। यह माॅइश्चर को सिल करता है और त्वचा को हाइड्रेटेड रखता है। साथ ही यह ड्राई और स्केली (हमेशा छिलके छोड़ने वाली) त्वचा को स्वस्थ और इम्प्रूव रखने में सहायता करता है। तरबूज के गूदे या जूस को त्वचा पर लगाने से त्वचा साफ्ट और स्मूद (चिकनी) बनती है। गर्मियों में भरपूर मात्रा में तरबूज का सेवन करने से भी त्वचा स्वस्थ रहती है।

तरबूज (वाटरमेलन) एंड ब्यूटी केयर

त्वचा पर तरबूज के प्रयोग की विधि:-  

तरबूज का गूदा या जूस को कुछ दिन लगातार त्वचा पर लगाया जाता है। त्वचा को स्वच्छ पानी से धोकर और फिर पोंछकर प्रभावित त्वचा पर तरबूज का गूदा या जूस लगाएं और 20 मिनट बाद स्वच्छ पानी से धो दें।


8. अनार एंड ब्यूटी केयर

स्किन केयर में अनार के अनेक महत्वपूर्ण लाभ हैं। यह त्वचा को माॅइश्चराइज करता है और यह पावरफुल एंटी-ऑक्सीडेंट होता है। यह त्वचा की माॅइश्चर रेटेंशल की काबिलियत को बढ़ाता है। अनार त्वचा की नई कोशिका तैयार करने में मदद करता है, जिससे त्वचा पर आने वाले बुढ़ापे के चिह्न में देरी आती है। नियमित रूप से चेहरे पर इसका प्रयोग करना चाहिए। यह टैन को भी रिमूव कर त्वचा के रंग को हल्का करता है, साथ ही त्वचा को दमकाता है।

अनार एंड ब्यूटी केयर

त्वचा पर अनार के प्रयोग की विधि:-  


अनार का जूस कुछ दिन लगातार त्वचा पर लगाया जाता है। त्वचा को स्वच्छ पानी से धोकर और फिर पोंछकर प्रभावित त्वचा पर अनार का जूस लगाएं और 20 मिनट बाद स्वच्छ पानी से धो दें।


9. स्ट्राॅबेरी एंड ब्यूटी केयर

स्ट्रॉबेरी में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, इसलिए यह उम्र बढ़ने के चिन्हों जैसे, लाइंस, झुर्रियां, ढीली त्वचा विकार आदि को रोकने में सहायता करता है। स्ट्रॉबेरी सपोर्टिव टिशू को मजबूत बनाता है और त्वचा के यौवन को बनाए रखने में मदद करता है। यह विटामिन-C से भरपूर होता है। विटामिन-सी त्वचा को स्वस्थ (हेल्दी) बनाए रखता है।

स्ट्राॅबेरी एंड ब्यूटी केयर

त्वचा पर स्ट्राबेरी के प्रयोग की विधि:-

फ्रूट पैक के लिए इसे कूट कर चेहरे पर लगाया जाता है और 20 मिनट के लिए छोड़ दिया जाता है और फिर सादे पानी से धो दिया जाता है। स्ट्रॉबेरी को दूसरे फलों के साथ भी मिक्स करके भी इस्तेमाल किया जाता है, या फिर कुटी हुई स्ट्रॉबेरी को दही के साथ मिलाकर भी चेहरे पर लगाया जाता है। समय के साथ-साथ यह त्वचा के रंग को हल्का करता है।


Conclusion :-

Dear reader !  हमने ब्यूटी केयर के लिए फ्रूट्स (फलों) के गुण व इस्तेमाल के कुछ विशेष प्रयोग विधि को बताया है, और उन फलों की सुंदरता के लिए उपयोगिता का वर्णन किया है। हमें आशा है कि आप इन विशिष्ट फलों, जो कि आसानी से प्राप्त हो सकने वाले हैं, उनकी सहायता से आप अपनी सुंदरता को बनाए रखेंगे या खोई हुई सुंदरता को प्राप्त कर पाएंगे।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ