Welcome !  Multi Useful Gyan Site पर आपका स्वागत है। आप यहां पर हिन्दू धर्म व अन्य धर्म विषयक और अनेक रोचक जानकारियां पायेंगे। अतः इस वेबसाइट को सब्सक्राइब (Subscribe) करें और Notification को ON/Allow भी करें !

Translator

What would happen if we don't do vyayam in Hindi? व्यायाम न करने से हानि

                  Donate us

व्यायाम न करने से हानि और व्यायाम करने से लाभ

प्रिय मित्रों ! किसी ने पूछा कि "अगर हम व्यायाम ना करें तो हमें क्या हानि होगी ?" तो आप इस लेख को बहुत ध्यान से पढ़िए ; मैंने इसमें पूरा बताया है कि कोई व्यक्ति अगर व्यायाम नहीं करता है तो उसे क्या हानि होगी !

व्यायाम न करने से हानि


 देखिए,  प्रत्येक व्यक्ति परिश्रम दो प्रकार से करता है- एक शारीरिक परिश्रम और दूसरा मानसिक परिश्रम।

शरीर के प्रत्येक अंग को क्रियाशील रखने के लिए मानसिक परिश्रम के साथ-साथ शारीरिक परिश्रम करना बहुत आवश्यक होता है। अगर आप एक शारीरिक परिश्रम करने वाले व्यक्ति नहीं है, अगर आप कोई अन्य शारीरिक मेहनत नहीं करते हैं और केवल कार्यालय अधीन कार्य ही करते हैं, तो आपको व्यायाम करना अति आवश्यक है।

 यदि आप एक ऐसे व्यक्ति हैं, कि आप कुछ शारीरिक परिश्रम करते हैं तो आप व्यायाम ना करेंगे तब भी चल जाएगा और अगर आप कोई शारीरिक परिश्रम करते हुए  व्यायाम करेंगे तो सोने पर सुहागा या बहुत फायदेमंद रहेगा। लेकिन अगर आप कोई भी ऐसा शारीरिक परिश्रम वाला काम नहीं करते तो आपको सुबह या शाम व्यायाम अवश्य करना चाहिए।

योग का वास्तविक अर्थ योग क्रिया के माध्यम से ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए शारीरिक और मानसिक दोनों गतिविधियों का संयोजन है और उस ऊर्जा को आंतरिक आत्मा तक पहुँचाना है। योग की शक्ति को योग करने से ही जाना जा सकता है।

योग हमें भौतिक प्रगति के साथ-साथ आध्यात्मिक प्रगति करने में भी मदद करता है। सामाजिक नियमों और हमारी आदतों को सुधारने में भी मदद करता है।

बहुत से लोग प्राणायाम, ध्यान, योग करते हैं लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिलती है। इसका मुख्य कारण यह है कि लोगों को इस अष्टांग योग के बारे में कोई जानकारी नहीं है, या अगर वे करते भी हैं, तो वे इसका पालन नहीं करते हैं।

जो लोग योग के इन आठ अंगों को जान लेते हैं और अपनी साधना को भली-भांति कर लेते हैं, उनका विवेक शुद्ध हो जाता है, उन्हें प्राणायाम, योग और साधना में सफलता और सिद्धि मिलती है और अपार ज्ञान और सुख की प्राप्ति होती है।  

👉  Ashtanga Yoga , अष्टांग योग क्या है ?

                  Donate us

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ