Welcome !  Multi Useful Gyan Site पर आपका स्वागत है। आप यहां पर हिन्दू धर्म व अन्य धर्म विषयक और अनेक रोचक जानकारियां पायेंगे। अतः इस वेबसाइट को सब्सक्राइब (Subscribe) करें और Notification को ON/Allow भी करें !

Translator

Hair Loss : बालों का झड़ना: कारण, उपचार और रोकथाम, गंजेपन का रामबाण इलाज

                  Donate us

 बालों का झड़ना: परिचय

आधुनिक युग में बालों का झड़ना एक विशेष समस्या है। इसमें कोई शक नहीं कि मानव जीवन को सुगम बनाने के लिए कृत्रिम साधनों के अधिक प्रयोग से शरीर रोगों का घर बनता जा रहा है।

आमतौर पर सिर के हर बाल की अपनी एक उम्र होती है, उस उम्र के बाद वो बाल झड़ जाते हैं और उनकी जगह नए बाल उग आते हैं।

सिर के बालों की उम्र करीब 6 साल होती है, इस उम्र को पूरा करने के बाद बाल कमजोर होकर झड़ते रहते हैं और उनकी जगह नए बाल उगते रहते हैं।

खोपड़ी के बालों के झड़ने के लक्षण

गंजेपन का रामबाण इलाज

1. जब किसी कारण से शरीर अस्वस्थ हो जाता है या शरीर में विटामिन या खनिज लवण की वृद्धि या कमी हो जाती है, तो सिर के बाल बहुत जल्दी और एक से अधिक संख्या में गिरने लगते हैं या कमजोर होकर टूट जाते हैं और उनका नया उस जगह पर बाल दोबारा नहीं उगते या बहुत कमजोर और पतले हो जाते हैं, जो बाद में झड़ जाते हैं।

2. ऐसी भी स्थिति होती है कि सिर की सभी बाल कोशिकाएं मृत हो जाती हैं और उनकी बाल पैदा करने की क्षमता एक साथ गायब हो जाती है और पूरा सिर गंजा हो जाता है।

सिर के बाल झड़ने के कारण

1. जब अशांति, चिंता, मानसिक व्याकुलता, क्रोध, भय आदि हमेशा मौजूद रहते हैं, तो अक्सर सिर पर बाल गिरने लगते हैं।

2. पूरे शरीर का खराब होना बालों के तेजी से झड़ने का कारण है।

3. एनीमिया।

4. तेज बुखार के बाद सिर के बाल अक्सर सिर की त्वचा के निष्क्रिय हो जाने से गिरने लगते हैं।

5. बालों का झड़ना अक्सर सिर में मौजूद किसी पुराने चर्म रोग के कारण होता है।

6. जो लोग सिर पर लंबे समय तक कपड़े को कसकर बांधकर रखते हैं या हमेशा टोपी पहनते हैं, तो खोपड़ी के निचले उपकला में रक्त के प्रवाह में कमी के कारण, उचित रक्त प्रवाह की कमी के कारण बालों का झड़ना शुरू हो जाता है।

7. विटामिन एच और विटामिन बी1 और कैल्शियम की कमी के कारण बालों का पूरा पोषण नहीं होने से सिर के बाल समय से पहले सफेद हो जाते हैं और झड़ भी जाते हैं।

8. कुछ लोगों में बालों का झड़ना एक अनुवांशिक रोग भी होता है।

9. ज्यादा रेडिएशन वाली जगह पर रहने से बाल झड़ते हैं।

10. कब्ज।

11. मासिक धर्म में गड़बड़ी।

बालों का झड़ना रोकने के रामबाण घरेलू उपाय

1. उपरोक्त कारणों को दूर करें।

2. सिर की त्वचा और बालों को नियमित प्राकृतिक तरीकों से साफ करें।

3. बालों का झड़ना रोकने के लिए बेसन और दही से बालों को धो लें।

4. रात को सोने से पहले नारियल के तेल में थोड़ा सा नींबू का रस मिलाकर इससे बालों की जड़ों की मालिश करें.
 
5. कंघे को सिर पर इस प्रकार घुमाएं कि कंघी के दांत सिर की त्वचा को स्पर्श करें।

6. अगर आप अपने बालों में नारियल या सरसों का तेल लगाते हैं तो यह बेहतर होगा या किसी अच्छी कंपनी से, जिसका तेल केमिकल से भरपूर न हो।

7. हरी सब्जियां ज्यादा खाएं।

8. सूखे आंवले को रात भर भिगो दें, सुबह इस पानी से बाल धो लें।

9. चुकंदर के पत्तों को मेंहदी के साथ पीसकर सिर पर लगाने से कुछ ही दिनों में बाल तेजी से झड़ना बंद हो जाते हैं।

10. गेहूं के छोटे-छोटे पौधों को पीसकर एक कप रस बनाकर नियमित रूप से पीने से बाल झड़ना बंद हो जाते हैं, जड़ मजबूत हो जाती है।

11. सर्वांगासन नियमित रूप से 5 मिनट तक करें।

12. तुलसी के पत्ते और आंवले के चूर्ण को एक साथ पीसकर सिर पर मलें,
ध्यान रहे कि ये आँखों में ना जाए,
इससे बालों का झड़ना बंद हो जाता है और बाल जमने भी लगते हैं और काले भी हो जाते हैं।

13. शैम्पू का प्रयोग नियमित रूप से न करें बल्कि 3-3 दिनों के अंतराल पर और पानी के साथ करें।

14. बाल धोने के लिए किसी भी प्रकार के साबुन का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

निष्कर्ष:-

बालों के झड़ने की समस्या वास्तव में एक बहुत ही कठिन और बोधगम्य रोग है। अगर आप बालों पर प्लाज्मा या बाजार में बिकने वाले अन्य घटिया उत्पादों का इस्तेमाल करते हैं तो शुरुआत में कुछ फायदा हो सकता है और कुछ दिनों बाद आपका सिर गंजा हो सकता है। इसलिए इस बीमारी का इलाज बहुत ही समझदारी से करना चाहिए।
                  Donate us

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ