Welcome !  Multi Useful Gyan Site पर आपका स्वागत है। आप यहां पर हिन्दू धर्म व अन्य धर्म विषयक और अनेक रोचक जानकारियां पायेंगे। अतः इस वेबसाइट को सब्सक्राइब (Subscribe) करें और Notification को ON/Allow भी करें !

Translator

Benefits of Aloe Vera । सौंदर्य निखारने में ऐलोवेरा का महत्व

                  Donate us

सौंदर्य निखारने में एलोवेरा की भूमिका:-

यह पौधा अनेक घरों में सजावटी पौधे के रूप में आसानी से उपलब्ध है, तथा यह अनेक होम केयर चीजों में प्रयोग किया जाता है। सामान्यतः अनेक बगीचों और घरों में एलोवेरा पाया जाता है, क्योंकि यह छोटे-छोटे गमलों में भी आसानी से उग जाता है। ऐलोवेरा का संस्कृत नाम घृतकुमारी या घिकंवर है। प्राचीन काल से ही ऐलोवेरा अपने प्रभावशाली औषधीय गुणों के कारण जाना जाता है और साथ ही आयुर्वेद का महत्वपूर्ण पौधा है। 

ऐलोवेरा के महत्वपूर्ण गुण:-

प्रायः ऐलोवेरा का जेल या जूस लोगों द्वारा त्वचा के सौन्दर्य को बढ़ाने के लिए प्रयोग किया जाता है।

ऐलोवेरा का जेल पौधे के पत्तों के गूदे में पाया जाता है, तथा ऐलोवेरा का जूस इसकी पत्तियों की बाहरी त्वचा के गूदे में पाया जाता है। 

ऐलोवेरा पौधे में अनोखे माॅइश्चर गुण पाए जाते हैं क्योंकि यह त्वचा को आइली बनाये बिना माॅइश्चराइज करता है और यह शक्तिशाली प्राकृतिक माॅइश्चराइजर भी है जो त्वचा की  खोई हुई नमी को वापस लाता है और त्वचा की मृत हो रही कोशिकाओं को मुलायम व सजीव करता है, जिससे कि त्वचा नरम व चमकदार बनी रहे।

Benefits of Aloe Vera

 वास्तव में यह त्वचा के नमी ग्रहण करने की क्षमता को बढ़ाते हुए इसके सामान्य कार्यों में सहायता करता है। एलोवेरा में एस्ट्रीजेंट ऐक्शन (कसैले क्रिया) और त्वचा को tight करने के अनोखे गुण भी पाये जाते हैं जो त्वचा को early ageing (जल्द बुढ़ापा) से बचाता है और बहुत फायदा करता है।

 एलोवेरा में एंटीऑक्सीडेंट गुण बहुत अधिक पाए जाते हैं और साथ ही यह कोशिकाओं को फिर से नया करने की प्रोसेस को भी बढ़ा देता है। 

एलोवेरा युक्त स्किन प्रोडक्ट्स के नियमित रूप से प्रयोग से त्वचा पर बुढ़ापे के निशान देर से नजर आते हैं। 

इस मामले में जानकारी तब हुई जब एलोवेरा जेल को स्थायित्व मिला। इसके बाद से इसका प्रयोग विभिन्न स्किन कंडीशन्स काॅस्मेटिक प्रोडक्ट्स प्रिपरेशन में किया जाने लगा। इससे ना केवल समस्याओं के समाधान के लिए बल्कि त्वचा के अच्छे स्वास्थ्य के लिए आदर्श माना गया। इसे अनेकों स्किन केयर प्रोडक्ट्स,लोशन, क्लींजर, माइश्चराइजर, सिरम्स, जेल, मास्क और कई चीजों में इसे मिलाया भी जाता है।

ऐलोवेरा को त्वचा पर लगाने का तरीका:-

ऐलोवेरा को त्वचा पर सीधे प्रयोग करने से पहले पत्तियों को धो लें और हाइजीन का विशेष ध्यान रखें। एलोवेरा जेल या जूस को प्रतिदिन चेहरे या कहीं पर लगाने के 25 मिनट बाद त्वचा को ताजा सादे पानी से धो लेना चाहिये। इससे त्वचा नरम और माइश्चर रहेगी। ऐलोवेरा का नियमित रूप से प्रयोग करने से त्वचा को बिल्कुल स्वस्थ रखने में सहायता करेगा। 

ऐलोवेरा का सर्दी व गर्मी के मौसम में प्रयोग:-

ठण्ड और गर्मियों में त्वचा पर एलोवेरा लगाना बहुत लाभप्रद है। सर्दियों में यह त्वचा के रूखापन को दूर करता है और ऊतकों को सॉफ्ट बनाता है। गर्मियों में यह त्वचा को सनबर्न की स्थिति में बचाव करता है। 

ऐलोवेरा का फेसमास्क बनाकर चेहरे पर लगाना:-

एलोवेरा को फेस मास्क में भी प्रयोग किया जाता है। एक बड़ा चम्मच मुल्तानी मिट्टी, एक छोटा चम्मच संतरे के छिलके का पाउडर और दही तथा एक बड़ा चम्मच एलोवेरा जेल को आपस में मिलाएं। अच्छी तरह से मिलाने के बाद इस मिश्रण त्वचा पर लगाएं और 30 मिनट बाद इसे स्वच्छ जल से धो दें। इससे चेहरे की झुर्रियाँ व मुंहासे मिट जाते हैं और त्वचा हर प्रकार से स्वस्थ रहती है।

ऐलोवेरा को बालों पर लगाने का तरीका:-

 एलोवेरा को बालों पर भी लगाया जाता हैं। ऐलोवेरा जेल, दही, और थोड़ी मात्रा में नींबू के रस को आपस में मिलाकर, मिश्रण को बालों पर लगाकर, 20 मिनट बाद साफ पानी से धो दिया जाता है। यह बालों को सॉफ्ट और स्मूथ (चिकना) बनाता है।

Conclusion :- 

Dear friends ! हमारी राय से ऐलोवेरा का प्राकृतिक तरीके से ही प्रयोग करना चाहिये और हमने आपको इसके प्रयोग की असली प्राकृतिक विधियों को बता दिया है।

                  Donate us

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ